200 Life-Saving Medical Kits to Communities

Appreciating the Uttarakhand government and administration for providing medical facilities in even the smallest villages of the region, Parmarth Niketan President HH Pujya Swami Chidanand Saraswatiji today presented 200 life-saving medical kits to the Deputy Chief Medical Officer of the Pauri Garhwal District, Dr Rajeev, so that the community and primary health centers of the area can provide exemplary, and the villagers can continue to get improved medical services.

In presenting the equipment, Pujya Swamiji assured the hardworking MLA of the Yamkeshwar region, Ritu Khanduriji, and Dr Rajeevji that Parmarth Niketan and Divine Shakti Foundation “will always be there during this epidemic. Whatever material is needed will be there. If we all work together, our state can soon become Corona-free. If we all serve humanity and Mother Earth, then our lives will be safe and healthy. Service to humanity is a small form of service to God.”

Dr Rajeevji shared, “Parmarth Niketan Ashram has been providing continuous service and support for the entire region and for Yamkeshwar block since March 2020. It provides the space for the government-run vaccination center, the Covid Care Center, many health-care workers, which is truly commendable!”

And, Municipal President Madhav Agarwalji said, “The saints and destitute living in this area were facing food shortages because of the epidemic but, as soon as Pujya Swamiji found out about it, He immediately got pure and sattvic food and water, masks and sanitizers and other daily essentials provided for them. It was really the need of the hour, and it was done. Whether it’s with the curfew, the lockdown or the calamity of Kedarnath, Parmarth Niketan has always served by coming forward to help.”

परमार्थ निकेतन, आश्रम द्वारा डिप्टी चीफ मेडिकल आॅफिसर पौड़ी गढ़वाल को आठ अस्पतालों के लिये भेंट किये आक्सीजन काॅन्सट्रेटर

मानवता की सेवा ईश्वर की सेवा का स्वरूप-स्वामी चिदानन्द सरस्वती

1 जून, ऋषिकेश। परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने डिप्टी चीफ मेडिकल आॅफिसर पौड़ी गढ़वाल डा राजीव को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र यमकेश्वर ब्लाक के अन्तर्गत आने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र यमकेश्वर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र किमसार, लक्ष्मण झूला, द्वियूली, भरपूर बनचूरी, हीराखाल और भृगुखाल चिकित्सालयों के लिये आक्सीजन काॅन्सट्रेटर और यमकेश्वर ब्लाक के 53 गांवों के लिये 200 जीवन रक्षक दवाईयों के किट भेंट किये ताकि क्षेत्र के सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों द्वारा ज्यादा से ज्यादा सेवा हो सके और ग्रामीणों को बेहतर चिकित्सा सुविधायें प्राप्त होती रहें।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने यमकेश्वर क्षेत्र की कर्मठ विधायक श्रीमती ऋतु खंडूरी जी एवं डिप्टी चीफ मेडिकल आॅफिसर डा राजीव को आश्वसान देते हुये कहा कि इस महामारी से निपटने के लिये और जो भी जरूरत की सामग्री हो परमार्थ निकेतन और डिवाईन शक्ति फाउंडेशन सहयोग के लिये हमेशा तैयार है। हम सब मिलकर कार्य करें तो हमारा राज्य शीघ्र ही कोरोना मुक्त हो सकता है। क्षेत्र के छोटे से छोटे गावों में भी चिकित्सा सुविधायें पहुंचाने के लिये उत्तराखंड सरकार एवं प्रशासन की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

स्वामी जी ने कहा कि मानवता की सेवा ईश्वर की सेवा का ही एक छोटा सा स्वरूप है। नर सेवा ही नारायण सेवा है। हम सभी मिलकर मानवता की, अपनी पृथ्वी की और अपने ग्रह की सेवा करें तो ही हमारा अस्तित्व भी सुरक्षित रह सकता हैं।

डा राजीव ने मुक्त कंठ से प्रसन्नता व्यक्त करते हुये कहा कि इस कोविड महामारी के दौर में परमार्थ निकेेतन आश्रम द्वारा विभिन्न आयामों से इस पूरे क्षेत्र और यमकेश्वर ब्लाक के लिये मार्च 2020 से अभी तक लगातार सेवा और सहायता प्रदान की जा रही है। परमार्थ निकेतन आश्रम में सरकार द्वारा संचालित वैक्सीनेशन सेन्टर, कोविड केयर सेंटर तथा स्वास्थ्य कर्मियों के आवास की व्यवस्थायें संचालित हो रही हैं, जो वास्तव में सराहनीय है।

नगरपालिका अध्यक्ष माधव अग्रवाल जी ने कहा कि कोरोना महामारी के समय में इस क्षेत्र में रहने वाले संतों और निराश्रितों को भोजन की समस्या का सामना करना पड़ रहा था परन्तु जैसे ही पूज्य स्वामी जी को इसकी सूचना मिली उन्होंने तुरंत शुद्ध एवं सात्विक भोजन और शुद्ध जल, मास्क, सेनेटाइजर और अन्य दैनिक आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था की, यह सचमुच इस समय की सबसे बड़ी जरूरत है और प्रशंसनीय सेवा कार्य भी है। परमार्थ निकेतन ने कोविड-19 हो; कोविड कर्फ्यू हो; लाॅकडाउन हो या फिर केदारनाथ की आपदा हो हर समय मदद के लिये आगे आ कर सेवा की है।

परमार्थ निकेतन द्वारा संचालित सेवाओं में सुश्री नन्दिनी त्रिपाठी जी, योगाचार्य श्री विमल बधावन जी आचार्य संदीप शास्त्री जी, आचार्य दीपक शर्मा जी, परमार्थ गुरूकुल के ऋषिकुमार, श्री नरेन्द्र बिष्ट जी, श्री लक्की सिंह जी, श्री भगत सिंह जी, श्री रामकिशन जी, श्री नारायण जी का विशेष योगदान रहा।